कमसिन बेटी की महकती जवानी-6

अब तक की इस हिंदी में चुदाई की कहानी में आपने जाना था कि बाप अपनी बेटी से अपने लंड की मुठ मरवा रहा था, उसे मर्द के लंड की मुठ मारना सिखा रहा था.

वफ़ा या हवस-2

शैलीन की आवाज़ से अचानक मेरा ध्यान भंग हुआ।

मेरी चालू बीवी-26

इमरान सलोनी ने दरवाजा खोला- ओह आप आ तो गए… क्या हुआ प्रणव भैया ??? उसने सलोनी को देख एकदम से गले लगाया और उसके गाल को चूमा… प्रणव हमेशा ऐसे ही मिलता था… विदेशी कल्चर… और उसकी पत्नी रुचिका भी… उसने नजर भरकर सलोनी को देखा… प्रणव- वाह सलोनी… आज तो मस्त सेक्सी लग रही हो… सलोनी- अरे रुचिका कहाँ है भैया… प्रणव- अरे क्या कहूँ हम दोनों यहीं आ रहे थे… कि रुचिका के मॉम-डैड का फ़ोन आ गया… वो कहीं जा रहे थे… मगर कुछ इमर्जेन्सी हो गई… तो अभी आधे घंटे बाद उनका प्लेन यहीं आ रहा है… हम दोनों उनको ही लेने जा रहे हैं… सॉरी यार फिर कभी जरूर आएंगे… मैं- अरे यार एकदम… ये सब कैसे? प्रणव- यार फिर बताऊंगा… मुझे तो इस पार्टी को मिस करने का बहुत दुःख है… अच्छा यार ज़रा जल्दी में हूँ… माफ़ कर दो… तुम दोनों मुझको… उसने एक बार फिर सलोनी को अपने गले लगाया… इस बार मैं पीछे ही था, मैंने साफ़ देखा उसके बायाँ हाथ सलोनी के चूतड़ों पर था… फिर वो तेजी से बाहर को निकल गया… मैं भी जल्दी से बाहर को आया… उसको सी ऑफ करने के लिए… मैं उसके साथ ही नीचे आ गया… रुचिका को भी एक नजर देखने के लिए… रुचिका उसकी महंगी कार में ही बैठी थी… मैं उसकी ओर गया… उसने तुरंत दरवाजा खोला… रुचिका ने पिंक मिनी स्कर्ट और टॉप पहना था… जैसे ही वो नीचे उतरने लगी… उसके बायाँ पैर जमीन पर रखते ही… उसकी स्कर्ट ऊपर हो गई… और दोनों पैर के बीच बहुत ज्यादा गैप हो गया… मुझे उसकी नेट वाली लाल कच्छी दिखी… मेरी नजर वहीं थी कि… रुचिका- ओह अंकुर एक मिनट… मैं सॉरी बोल पीछे हटा… रुचिका ने बाहर आ मेरे सीने से लग गाल को हल्का सा चुम्बन किया… मुझे प्रणव की हरकत याद आ गई… मैंने भी अपना बायाँ हाथ रुचिका के चूतड़ों पर रखा… ओह गॉड मेरी किस्मत… मेरी उँगलियों को पूरी तरह से नंगे, मक्खन जैसे चूतड़ों का स्पर्श मिला… बैठने से रुचिका की स्कर्ट पीछे से सिमट कर ऊपर हो गई थी… और उसने शायद लाल टोंग पहना था… जिससे उसके चूतड़ के दोनों उभार नंगे थे… मेरी उँगलियाँ खुद ब खुद उसके चूतड़ों के मुलायम गोश्त में गड़ गई… मैंने भी रुचिका के गाल पर चुम्मा लिया… और जब गाड़ी में देखा तो प्रणव ड्राइविंग सीट पर बैठ गया था… और वो मेरे हाथ को देख कर मुस्कुरा रहा था… मैंने जल्दी से रुचिका को छोड़ा और पीछे हट गया… रुचिका- सॉरी प्रणव… फिर बनाएँगे यार प्रोग्राम… अब तुम दोनों आना हमारे घर… मैं- कोई बात नहीं… ये सब भी देखना ही था… ठीक है… रुचिका घूमकर गाड़ी में बैठने लगी… उसने अभी भी अपनी स्कर्ट ठीक नहीं की थी… उसके चूतड़ों की एक झलक मुझे मिल गई… ना जाने मुझमे कहाँ से हिम्मत आ गई… मैंने रुचिका को रोका और उसकी स्कर्ट सही कर दी… रुचिका- क्या हुआ अंकुर।?? मैं- अरे या… स्कर्ट ऊपर हो गई थी… रुचिका- ओह… थैंक्स… प्रणव- हा हा हा… रुचिका आज… सलोनी तुमसे कहीं ज्यादा सेक्सी लग रही थी… रुचिका चिढ़कर- …तो नीचे क्यों आ गए… वहीं रुक जाते ना… मैं अंकुर के साथ चली जाती हूँ… प्रणव- ओह यार… मैं तो तैयार हूँ… क्यों अंकुर…?? मैं- हाँ हाँ… ठीक है… सोच ले… मुझे भी उनके सामने कुछ बोल्ड होना पड़ा… प्रणव ने गाड़ी स्टार्ट की- ..चल अच्छा फिर कभी सोचेंगे… वरना इसके पापा सोचेंगे… कि यार मेरी बेटी का पति कैसे बदल गया… और मैं उन दोनों को विदा कर ऊपर आ गया… दरवाजा खुला था… मैं अंदर गया… मधु हमारे बैडरूम के दरवाजे पर खड़े हो चुपचाप अन्दर झाँक रही थी… मैं चुपके से वहाँ गया, मुझे देखते ही वो डरकर पीछे हो गई… मैंने भी अंदर देखा… एक और सरप्राइज तैयार था… अंदर अरविन्द अंकल और सलोनी थे… मैं थोड़ा आश्चर्यचकित हो जाता हूँ… कहानी जारी रहेगी।

सम्भोग से आत्मदर्शन- 20 Hindi Sex Story

अब तक आपने पढ़ा कि हमने जब हम ढोंगी बाबा के आश्रम से लौट रहे थे तब हमें तनु कि बचपन की सहेली प्रेरणा मिली, जिसका मकसद भी बाबा को बेनकाब करना था।

चुदासी चूत में मेरे लंड का कमाल

हैलो मेरे दोस्तो, कैसे हो आप लोग, मैं आशा करता हूँ कि आप लोग ठीक होंगे. मैं आपने सभी पाठकों का अभिवादन करता हूँ. मेरे प्रिय पाठकों आप लोगों अपना जो प्यार प्रेषित करते हैं, वो मेरे लिए एक बड़ा स्पोर्ट है. उसके लिए दिल से पुनः धन्यवाद.

फेसबुक पर तलाकशुदा की दोस्ती चूत चुदाई तक Hindi Adult Story

मैं जॉय लेनिन विजाग से, आपसे अपनी सच्ची सेक्सी एडल्ट स्टोरी शेयर करने जा रहा हूँ. ये सेक्स स्टोरी मेरी एक फ़ेसबुक फ्रेंड सुमीना के साथ की है, जो विजयवाड़ा के पास की एक सिटी में रहती है. वो नॉर्थ ईस्ट सिक्किम से है. उसके उम्र 40+ की होगी. हमारी दोस्ती फ़ेसबुक पर हुई. पहले सुमीना की बहन से मेरी फ्रेंडशिप हुई. उसके बाद सुमीना ने रिक्वेस्ट एक्सेप्ट की और हम अच्छे दोस्त बन गए और फ़ेसबुक में बहुत चैट करने लगे.

तलाकशुदा आरती की चूत चुदाई

मेरी उम्र 25 साल है। मैं एथलेटिक बॉडी का हूँ.. मतलब स्लिम और स्मार्ट बन्दा हूँ। मेरे लंड का साईज मेरे अंतरवासना के दोस्तों जितना ही है।

सास के साथ चरम सुख की प्राप्ति

मैं दिल्ली में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत हूँ. ये मेरी सच्ची कहानी है. यह दो वर्ष पहले की घटना है. मैं दिल्ली में अपनी पत्नी के साथ रहता था.

मेरी गाण्ड का उद्घाटन समारोह

मित्रों को मेरा नमस्कार। आज मैं आपको अपनी आपबीती बताने जा रहा हूँ, जब मैं पहली बार चुदा था, यह कहानी सच्ची है लेकिन इसे मजेदार बनाने के लिए मैंने थोड़ा मिर्च-मसाला मिला दिया है।

moti aunty ki chudai kahanixxx hindi mchoot phad dikamuk bhabhibhabhi ki chut kahanioffice sex bosshi di sexbahan kahanihindi family sex storychoti chodabhabi dewar sexbhojpuri chudai audiophone sex kahanibehan aur maa ki chudaidevar bhabhi chudai kahaniyasex story pdfindian sex with bhabhihindi sex steorilund chusne ke faydeaunty or auntie sexhindi sex story salihindi sexi khaniaimdb pornindian sex stories chachigaand mardoodhwali aunty ki chudaisunita bhabhi ki chutsex gay storygand mar limummy ko pelasix kahnisavita bhabhai comindian sex xholi xossipsex kahani betimosi ki chudai moviesixi hindisex story momkamukta mp3 comsister and brother sex storysex storey commaa beta ki chudai storycudai ki khani hindibhabhi aur dewarsali ki storysexy story hindusex in college hostelwww antarwasna hindi sexy storysexy girl kahanicut chutfree hindi sex story downloadfemale writer sex storiesantarvasana hindi comgroup mein chudaipornhinindiansexstoeiesdevar ne bhabhi ko chodadost ki gand maribara saal ki chootsex rape story in hindibiwi ko chodasavita bhabhi museschudayi ki photobeti ki sexsuhagraat chudaighar me hi chudairelation me chudailatest non veg jokes in hindi 2014dost ki maa chudaiinsect sex storykamuk story in marathiwww antravasna com hindihot saxy story in hindipati ka dostmaa ne lund chusa